Dur jakar bi bas

Dur jakar bi bas

dur jake bi bas

Dur jakar bi bas tumse pyar hai

Phir dekhne ko tmhe bas intazar hai

Dil bekarar hai

Phir milne ko tmse bas tayar hai

Gale lagane ko baahein kb se bekarar  hai

Phir chalne ko kahi dur bas intazar hai

Tmse ho rahi mohabbat beshumar hai

Phir simatne ko tum mai bass intazar hai

Dur jakar bi bas tumse pyar hai……….

दूर जाकर भी बस तुमसे प्यार है

फिर देखने को तम्हे बस इंतज़ार है

दिल बेक़रार है

फिर मिलने को तमसे बस तैयार है

गले लगाने को बाहें कब से बेक़रार है

फिर चलने को कही दूर बस इंतज़ार है

तमसे हो रही मोहब्बत बेशुमार है

फिर सिमटने को तुम मै बस इंतज़ार है

दूर जाकर भी बस तुमसे प्यार है…….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *