Thodi der hi sahi

Thodi der hi sahi

Thodi der hi sahi
Thodi hi sahi par baat kar lo

Thodi der hi sahi par baat kar lo , thodi der hi sahi par sath chal lo

aaj kitne dard jehen mai utre hai …

ye pao kitne raste se gujre hai..dard thoda tum sun lo thoda suna do ,

kabse jaag rahi hai ankhon ko sula do

akeli hu dard ko hisson mai bant rahi hu

Zinda hu zndagi ko kisso mai chant rahi hu ,

itni rato mai mere naam bhi ek raat kar do

Thodi der hi sahi par baat kar lo , thodi der hi sahi par sath chal lo


थोडी देर ही सही पर बात कर लो ,थोड़ी दूर ही सही पर साथ चल लो ।

आज कितने दर्द जेहन में उतरे है ।

ये पांव कितने रास्ते से गुजरे है दर्द थोड़ा तुम सुनलो थोड़ा सुना दो ,

कबसे जाग रही आंखों को सुला दो।

अकेली हूं दर्द को हिस्सों में बांट रही हु,

जिन्दा हु जिन्दगी को किस्सों में छांट रही हु ।

इतनी रातों में मेरे नाम भी एक रात कर दो ,

थोड़ी देर ही सही पर बात कर लो थोड़ी देर ही सही पर बात कर लो


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *